अब बाराबंकी में हाथरस जैसी वारदात, दलित लड़की की रेप के बाद हत्या, परिजन बोले- पुलिस दबा रही थी केस

  • पीड़ित लड़की के परिजनों का दावा है कि उन्होंने पुलिस को बताया है कि लड़की 17 साल की थी लेकिन पुलिस का कहना है कि मौखिक शिकायत दर्ज कराते वक्त परिजनों ने बताया था कि लड़की की उम्र 18 साल से थोड़ी ज्यादा है।

इधर अब उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में हाथरस की तरह कांड हुआ है। यहां एक दलित नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के बाद उनकी हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस पर आरोप लगा है कि पुलिस ने आननफानन में लड़की का अंतिम संस्कार पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले ही करा दिया है। बताया जा रहा है कि दलित लड़की से रेप और उनकी हत्या की यह घटना बीते बुधवार की है। परिजनों ने एक खेत से लड़की की डेड बॉडी बरामद की है। गुरुवार की शाम को लड़की का पोस्टमार्टम रिपोर्ट आया है जिसमें गला दबाकर हत्या और दुष्कर्म की पुष्टि की गई है।

शुरू में इस मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया था। बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में लड़की के साथ यौन शोषण की पुष्टि हुई जिसके बाद पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (रेप) को भी एफआईआर में जोड़ा। ‘The Indian Express’ से बातचीत करते हुए यहां के एडिशनल एसपी राम सेवक गौतम ने कहा कि ‘बुधवार को इस मामले में धारा 302 (हत्या) के तहत केस दर्ज किया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर एफआईआर में धारा 376 जोड़ी गई है। जांच के बाद हम इस मामले में कुछ संदिग्धों से पूछताछ कर रहे हैं।’

The Ace EXPRESS से जुड़ने और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

दि ऐस एक्सप्रेस Telegram पर भी उपलब्ध है। जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें@TheAceExpress

Facebook Comments