मानवाधिकार एवं न्याय सुरक्षा प्रहरी के पदाधिकारियों ने CM योगी से की स्कूलों को खोलने की मांग

चंदौसी। सोमवार को मानवाधिकार एवं न्याय सुरक्षा प्रहरी के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने गत डेढ़ वर्ष से स्कूलों के बंद होने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर पड़े नकारात्मक प्रभाव को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए एक ज्ञापन उपजिलाधिकारी चंदौसी के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजा है।

ज्ञापन के माध्यम से संगठन ने मुख्यमंत्री योगी को यह अवगत करने का प्रयास किया है कि स्कूलों के लगातार बंद रहने के कारण विद्यार्थियों के बुद्धिकौशल पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। साथ ही पढाई-लिखाई में रुचि भी कम हो रही है। जहाँ एक ओर प्रदेश में बाज़ारों, कारोबारों, आवागमन तथा सामाजिक-धार्मिक गतिविधियों की अनुमति पहले ही दी जा चुकी है वहीं इतने लम्बे काल तक शिक्षा के मंदिरों का बंद रहना राष्ट्रहित में नहीं है।

संगठन ने ज्ञापन के माध्यम से अतिशीघ्र शिक्षण संस्थानों को खोलने की मांग की है ताकि प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था फिर से पटरी पर आ सके और विद्यार्थियों का शैक्षिक भविष्य सुनिश्चित हो सके। ज्ञापन देने वालो में संगठन के राष्ट्रीय महासचिव मयंक सूर्यवंशी, वीरेंद्र कश्यप, हरीश कठेरिया, मौहम्मद शफीक,मोहम्मद आमिर , नौशाद अली , डॉ दीपचंद, शाकिर अली, पंकज अग्रवाल आदि शामिल हैं।

The Ace EXPRESS से जुड़ने और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

दि ऐस एक्सप्रेस Telegram पर भी उपलब्ध है। जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें@TheAceExpress

Facebook Comments