अचानक सपा दफ्तर पहुंचे मुलायम सिंह, कार्यकर्ताओं से कह दी बड़ी बात, देखिये

  • इससे पहले योगी सरकार में मंत्री रहे और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) ने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से मुलाकात की.

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam singh yadav) शुक्रवार को अचानक पार्टी दफ्तर पहुंचे. जहां उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं से मुलाकात की. मुलाकात के दौरान मुलायम ने कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुए कहा, ‘वो पार्टी की पॉलिसी को जन-जन तक पहुंचाएं.


Also Read : अखिलेश यादव ने प्रदेश और सभी जिला इकाइयां भंग की, अब नए सिरे से होगा गठन

दरअसल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सपा संरक्षक का संदेश साफ है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक सपा-बसपा गठबंधन टूटने के बाद समाजवादी पार्टी अपने कार्यकाल के दौरान पूरे प्रदेश में किए गए विकास कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने के प्रयास में अभी से जुटती नजर आ रही है.

ओमप्रकाश राजभर ने की मुलाकात

इससे पहले योगी सरकार में मंत्री रहे और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) ने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से मुलाकात की. सपा मुख्यालय पर दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे बातचीत हुई, जिसके बाद गठबंधन को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों नेताओं के बीच मुलाकात सूबे में होने वाले आगामी उपचुनाव में गठबंधन को लेकर हुई है.


Also Read : HC का आदेश : DJ बजाने पर 5 साल की जेल और देना होगा 1 लाख का जुर्माना

अखिलेश के लिए भी उपचुनाव है चुनौती

दरअसल, कहा जा रहा है कि अखिलेश यादव भी उपचुनाव में गठबंधन को लेकर मंथन कर रहे हैं. पहले कांग्रेस और फिर बसपा से गठबंधन असफल रहने के बाद उन्हें नए साथी की तलाश है. इसके पीछे वजह यह है कि इस बार बीजेपी के साथ पूर्व सहयोगी से भी उनका मुकाबला है. यह पहली बार है जब बसपा उपचुनाव लड़ने जा रही है. ऐसे में सपा के बेहतर प्रदर्शन की जिम्मेदारी भी अखिलेश के कंधों पर होगी. जिन 13 सीटों पर उपचुनाव होने हैं उनमे से कुछ सीटों पर राजभर की पार्टी से गठबंधन फायदेमंद हो सकता है.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments