गोरखपुर में प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने बरसाई लाठियां, आधा दर्जन सपा कार्यकर्ता हुए चोटिल

Protest in Gorakhpur: समाजवादी पार्टी के धरना, विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं पर लाठियां चटकाई. लाठीचार्ज और अफरा-तफरी में आधा दर्जन सपा कार्यकर्ता चोटिल हो गए. प्रदेश सरकार की नीतियों के खिलाफ सपा ने विरोध और धरना का कार्यक्रम रखा था. इस दौरान सपा के कई स्‍थानीय पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी भी दी.

Also Read: सावन के अंतिम सोमवार को एक और ‘धमाका’ करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी, जानिए क्या है प्लान


एकत्र होकर धरना स्‍थल के लिए निकले कार्यकर्ता

Protest in Gorakhpur: समाजवादी पार्टी ने 9 अगस्त को 25 मुद्दों को लेकर धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम रखा था. ये धरना नगर निगम स्थित रानी लक्ष्‍मी बाई पार्क में रखा गया था. इस दौरान सपा कार्यकर्ता जब बेतियाहाता स्थि‍त कार्यालय पर एकत्र होकर धरना स्‍थल के लिए निकले, तो कुछ ही दूर आने के बाद पुलिस ने उन्‍हें रोक दिया गया.

उसके बाद सपा कार्यकर्ता प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. इसके बाद पुलिस के साथ नोंकझोक और झड़प ने उग्र रूप ले लिया, पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. इसमें आधा दर्जन कार्यकर्ता चोटिल हो गए.


जियाउल इस्‍लाम के नेतृत्‍व में सपाइयों ने दी गिरफ्तारी

अफरा-तफरी के बीच सभी कार्यकर्ता इधर-उधर भागने लगे. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए भी हल्‍का बल प्रयोग किया. सड़क पर पूरी तरह से भगदड़ मच गई.उसके बाद सपा के जिला अध्यक्ष प्रहलाद यादव, पूर्व प्रदेश प्रवक्ता कीर्ति निधि पांडे, महानगर अध्‍यक्ष जियाउल इस्‍लाम के नेतृत्‍व में सपाइयों ने गिरफ्तारी दी. जिन्‍हें पुलिस लाइन ले जाया गया है.

Also Read : धारा 370 हटाने पर मुस्लिम देशो के संगठन OIC ने बुलाई एमरजेंसी बैठक, जानिए क्या हुआ तय ?

सपाइयों ने भाजपा राज में प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त होने, जंगलराज व्याप्त होने के साथ फर्जी एनकाउन्टर, समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न, विशेष वर्गों में हत्या की घटने का आरोप लगाया है. इसके साथ ही सोनभद्र कांड के दोषी व्यक्तियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की गई.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments