हमें भाजपा ने किया बरबाद, कई मर गए

गाजियाबाद। पैठ बाजार संघर्ष समिति ने सोमवार को भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और उन लोगों की लिस्ट जारी की जो पैठ बाजार उजड़ने पर बेरोजगार हो गए थे और उनकी मौत हो गई थी। समिति के पदाधिकारियों ने पैठ बाजार उजाड़ने का आरोप गाजियाबाद से लोकसभा प्रत्याशी जनरल वीके सिंह, प्रदेश के राज्यमंत्री अतुल गर्ग व अन्य भाजपा नेताओं पर लगाया है। 

आज समिति के अध्यक्ष आंनद शर्मा पप्पू ने नवयुग मार्केट में आयोजित एक प्रेस कांफे्रस में कहा कि जब-जब भाजपा सत्ता में आई है तब-तब गरीबों को उजाड़ने का अभियान चलाया गया है। मोदी व योगी सरकार पटरी दुकानदारों की सबसे बड़ी दुश्मन है। उन्होंने कहा कि नवयुग मार्केट में लगने वालीपैठ बाजार स्थानीय सांसद व केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह, स्थानीय विधायक व प्रदेश के राज्यमंत्री अतुल गर्ग व स्थानीय पार्षद राजीव शर्मा का सीधा-सीधा हाथ है। 

जो लोग भाजपा को गरीबों की हिमायती समझते हैं उन्हें समझना होगा कि भाजपा की हकीकत क्या है। आनंद शर्मा ने कहा कि इन लोगों ने केंद्र सरकार के वैंडर कानून को भी ताक पर रख दिया। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में गरीब समाज इन लोगों से बदला लेगा और किसी भी सूरत में भाजपा प्रत्याशी को वोट नहीं देगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे भाजपा को छोड़कर किसी को भी वोट करें। इस अवसर पर फूलचंद यादव, महेंद्र गुप्ता, वेद प्रकाश आर्य, नफीस अहमद, हरिओम, रामदीप, नफीस अहमद आदि थे।

समिति द्वारा जारी की सूची …
समिति ने एक सूची भी जारी की जिसमें दावा किया गया कि ये वे लोग है जो पैठ उजड़ने के बाद बेरोजगार हो गए थे और इसी कारण उनकी मौत हो गई। इनमें पूरन सिंह भदौरिया, संजय कुमार, नौशाद, गौरव भाटी, रामवृक्ष, अजय आर्य, कैलाश, रामचरन, अरूणख् गुलफाम, हकीमुददीन, पवन गुप्ता, राजीव राणा, संजय, अशोक गौतम (पैरालाइज) व अशोक गुप्ता हैं।

Source : DainikHint

Facebook Comments