संयुक्त गठबंधन रैली में बरसीं मायावती, बोलीं- ‘नमो-नमो’ जाएंगे, ‘जय भीम’ आएंगे

बदायूं | उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के गठबंधन ने शनिवार को अपनी दूसरी संयुक्त रैली बदायूं में की। इस दौरान बोलते हुए BSP सुप्रीमो मायावती ने खुले तौर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तीखा हमला किया। उन्होंने CM को उनके ‘अली-बजरंगबली’ वाले बयान पर जमकर घेरा और कहा कि गठबंधन के साथ अली और बजरंगबली दोनों हैं और दोनों की मदद से गठबंधन को जीत हासिल होगी।

नमो-नमो जाएंगे, जय भीम आएंगे

माया ने बदायूं की रैली में कहा कि भीड़ को देखकर लग रहा है कि नमो-नमो वाले जा रहे हैं, जय भीम वाले आ रहे हैं। उन्होंने CM पर हमला बोलते हुए कहा, ‘यूपी के मुख्यमंत्री योगी को इस बात का जवाब जरूर देना चाहूंगी, जो इन्होंने गठबंधन के बारे में इशारा करते हुए कहा है कि इनके अली, हमारे बजरंगबली, मैं इनको कहना चाहती हूं कि हमारे अली भी हैं, बजरंगबली भी हैं। दोनों में से कोई गैर नहीं हैं, दोनों हमारे अपने।’  

हमारी ही दलित जाति के हैं बजरंगबली

उन्होंने योगी आदित्यनाथ के उस बयान पर भी तंज कसा था जिसमें उन्होंने बजरंगबली को दलित बताया था। उन्होंने कहा, ‘हमें बजरंगबली की ज्यादा जरूरत इसलए भी है क्योंकि बजरंगबली अपनी ही जाति के हैं, दलित हैं। योगी ने ही उनकी जाति की खोज की है कि बजरंगबली वनवासी दलित जाति के हैं। मैं योगी की आभारी हूं कि हमारे वंशज के बारे में खास जानकारी दी है। हमारे लिए खुशी की बात यह है कि हमारे साथ अली भी हैं और बजरंगबली भी हैं।’ उन्होंने कहा कि योगी की पार्टी को न अली का वोट पड़ेगा, न बजरंगबली का।  

CM योगी के बयान से विवाद

बता दें कि योगी आदित्‍यनाथ ने कहा था, ‘अगर कांग्रेस, SP, BSP को अली पर विश्वास है तो हमें भी बजरंग बली पर विश्वास है।’ CM योगी ने देवबंद में BSP सुप्रीमो के उस भाषण की तरफ इशारा करते हुए यह टिप्पणी की थी जिसमें मायावती ने मुस्लिमों से SP-BSP गठबंधन को वोट देने की अपील की थी। योगी के इस बयान के बाद चुनाव आयोग ने उन्‍हें नोटिस भेजा था और शुक्रवार शाम तक जवाब देने को कहा था। 

Facebook Comments