मुरादाबाद : उ0प्र0 को साधने के लिए अमित शाह ने चला राष्ट्रवाद का ब्रह्मास्त्र

पीतलनगरी में मंगलवार को आयोजित रैली से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने यूपी को साधने की कोशिश की। 30 मिनट के भाषण में गठबंधन पर तीखे प्रहार किए। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था में सुधार और राष्ट्रवाद का ब्रह्मास्त्र चलाया। भाजपा को जिताने का आह्वान करते हुए कहा कि इस देश को ऐसा पीएम चाहिए, जो आतंकवादियों को सबक सिखा सके और पाकिस्तान का मुंह तोड़ जवाब दे सकें। अपने संबोधन की शुरुआत भारत माता की जय से की। समापन भी भारत माता की जय जयकार और वंदेमातरम से किया।

गठबंधन को घेरने की कोशिश

रामलीला मैदान में रैली को संबोधित करते हुए शाह ने शुरुआती पांच मिनट उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था में सुधार को लेकर गठबंधन को घेरने की कोशिश की। हालात बताते हुए कहा कि एनकाउंटर के डर से बदमाश थाने पहुंचकर कह रहे है, दारोगा जी गिरफ्तार कर लो। पहले पुलिस गुंडों से डरती थी, अब गुंडे पुलिस से डरने लगे हैं। बहन-बेटियों का अपमान नहीं होता है। शाह ने भाजपा की जीत का श्रेय उत्तर प्रदेश को दिया। बोले कि 2014 और 17 के चुनाव की शुरुआत भी पश्चिम से हुई थीं, जो काशी में पहुंचकर सुनामी बन गई थी। मुरादाबाद से विजय संकल्प रैली से गठबंधन को हराने की शुरुआत होगी। उप्र में कानून का राज दिखाकर 74 सीटें इस बार हासिल करने का दावा किया। साथ ही पश्चिम से पलायन का जिक्र करते हुए सपा कार्यकाल में मुजफ्फरनगर के दंगे की याद ताजा कर दी। बोले, अब पलायन कराने वाले पलायन कर गए। पश्चिम उप्र को गन्ना किसानों की बेल्ट कहा जाता है। किसानों को साधने के लिए उनके खातों में भेजी गई रकम के बारे में भी बताया। भाजपा के कराए विकास कार्यों के बारे में उन्होंने मतदाताओं से गिनती भी कराई। भाषण के अंत में यह भी कह गए कि क्या किया, क्या नहीं किया। राष्ट्र के बारे में सोच कर मतदान करें।

हर जुबान पर था मोदी का नाम

बालाकोट में एयरस्ट्राइक, उरी की सर्जिकल स्ट्राइक पर बोले, तो हर जुबान से मोदी-मोदी के नारे निकले। गठबंधन को नेतृत्वहीन बताकर कहा कि हमारे पास पीएम पद के लिए मोदी है, उनके पास न नेता है, न नीति है और न सिद्धांत है। इसे लेकर लोगों से हामी भी भरवाई। तंज कसते हुए कहा कि 18 घंटे काम करने वाले नरेंद्र मोदी ने 20 साल में एक भी छुट्टी नहीं ली और राहुल बाबा छह महीने छुट्टी पर चले जाते हैं मां को भी पता नहीं होता कहां जाते हैं।

लक्ष्मीकांत वाजपेयी और सुनील बंसल से हुई बातचीत

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश और मुरादाबाद मंडल की स्थिति की चर्चा पूर्व अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी व प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल से की। इसके बाद सांसद सर्वेश को भी बुलाया। हेलीकॉप्टर में लक्ष्मीकांत वाजपेयी और सुनील बंसल को अपने साथ मेरठ ले गए। 

SOURCE : JAGRAN

Facebook Comments