ताजमहल में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे? वीडियो वायरल होने के बाद जांच शुरू

करीब साढ़े तीन बजे चादर चढ़ाने एक टोली आई और ढोल नगाड़े के साथ नारेबाजी करती हुई गई। इस बीच देखा गया कि एक युवक पाकिस्तान समर्थित नारे लगा रहा था।

ताजमहल में शाहजहां के 364 उर्स के मौके पर एक तरफ जहां इबादत की जा रही थी वहीं दूसरी तरफ ताजमहल के रॉयल गेट पर एक युवक ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। युवक की इस हरकत के बाद सुरक्षा एजेंसियों के हाथ पैर फूल गए। शाहजहां के उर्स के मौके पर ताजमहल में प्रवेश शुल्क नहीं लिया जा रहा था। इस मौके पर ताजमहल में काफी संख्या में लोग आए। इस दौरान करीब साढ़े तीन बजे चादर चढ़ाने  एक टोली आई और ढोल नगाड़े के साथ नारेबाजी करती हुई गई। इस बीच देखा गया कि एक युवक पाकिस्तान समर्थित नारे लगा रहा था। मौके पर वीडियो बना रहे एक शख्स के वीडियों में नारेबाजी करने वाला युवक कैद हो गया।

प्रतिबंध के बावजूद कब्र तक पहुंचा भारत का झंडा
यह विवाद पाकिस्तान की नारेबाजी तक ही नहीं था। सुरक्षाकर्मी किस तरह से चूक गए इसकी एक और बानगी देखने को मिली जब प्रतिबंध के बावजूद भारत का झंडा लेकर एक शख्स  शाहजहां-मुमताज की कब्र तक पहुंच गया। पश्चिमी गेट से झंडा लेकर प्रवेश करने वाले शख्स ने कब्र पर पहुंचकर तिरंगे के साथ फोटो भी खिंचवाई। भारत माता की जय, हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए।

उर्स कमेटी के संचालक सैयद मुनव्वर अली का कहना है कि उन्होंने भी वीडियो देखा है। जिस युवक ने पाकिस्तान समर्थित नारा लगाया है। कमेटी उसके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कराएगी। ऐसे शख्स को छोड़ा नहीं जा सकता । हम सख्त कार्रवाई की मांग करेंगे पुरातत्वविद अधीक्षण वसंत कुमार स्वर्णकार का कहना है कि रॉयल गेट पर लगाए गए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे दुर्भाग्यपूर्ण हैं। सीसीटीवी फुटेज के जरिए युवक की पहचान की जा रही है। आगे से सावधानी बरती जाएगी। परिसर में किसी प्रकार की नारेबाजी नियमों के खिलाफ है।

VIA-JANSATTA

Facebook Comments