145 रिटायर्ड अफसरों ने चिट्ठी लिख लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग की भूमिका पर खड़े किये सवाल

145 से ज्यादा रिटायर्ड सिविल अफसर , सैन्य अफसर व शिक्षाविदों ने मिलकर चुनाव आयोग के खिलाफ ही आवाज उठाते हुए चुनाव आयोग को ही कठघरे में खड़ा कर दिया है. लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग की कई मामलों में दी गई प्रतिक्रिया को लेकर ही सवाल खड़े कर दिए हैं.

Also Read : मायावती को बड़ा झटका देने की तैयारी में सपा मुखिया अखिलेश यादव, यह है आगे की रणनीति


64 पूर्व आईएएस, आईएफएस, आईपीएस और आईआरएस अफसरों ने चुनाव आयोग को ही ओपन लेटर लिखा है, इनके इस पत्र को 83 अन्यलोगों ने समर्थन किया है.

चुनाव आयोग पर ही खड़े किए सवाल

अंग्रेजी अखबार ‘द टेलीग्राफ’ के मुताबिक लोकसभा चुनाव 2019 का स्तर जो रहा है,वह पिछले तीन दशकों तक में सबसे नीचे दिखाई देता है, इतना ही नहीं आरोप है कि 2019 का जनादेश ही घेरे में दिखाई देता है.

retired ias officers raise suspicion on election commsission
Photo Courtesy: getty

चिट्ठी में चुनाव प्रक्रिया के दौरान हुए सभी छोटे-बड़े विवादों को विस्तार रुप में लिखा गया है, इसके साथ ही आरोप है कि लोकतंत्र की छवि को साफ-सुथरा बनाए रखने के लिए इन सवालों के जवाब नहीं दिए गए.

Also Read : हाई कोर्ट के जज ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- जजों की नियुक्ति वंशवाद और जातिवाद से ग्रसित


इसके साथ ही कहा है कि इस तरीके का कोई काम दोबारा ना हो इसके लिए चुनाव आयोग को जरुरी कदम उठाने चाहिए जिससे चुनाव आयोग की सुचिता बनी रहे. चुनाव आयोग पर लोगों का विश्वास बना रहें इसके लिए चुनाव आयोग को कुछ जरुरी कदम उठाने चाहिए.

इस चिट्ठी में चुनाव की तारीख से लेकर, माडल कोड आफ कंडक्ट, पीएम के हेलीकाप्टर की तलाशी पर आईएएस अफसर के ट्रांसफर, नीति आयोग की भूमिका, नमो टीवी से लेकर ईवीएम आदि से संबंधित सवाल उठाए गए हैं.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments