नीरव मोदी को भारत लाने की तैयारी, सीबीआई ने तेज किए प्रयास

सीबीआई सूत्रों ने मंगलवार को कहा कि पीएनबी बैंक घोटाले में आरोपी नीरव मोदी को ब्रिटेन से प्रत्यर्पित करके भारत लाने के लिए सभी जरूरी प्रयास किये जा रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि जांच एजेंसी लंदन में हो रहे घटनाक्रम पर नजर रख रही है और ब्रिटेन से प्रत्यर्पण का आग्रह करने के लिए सभी कानूनी मदद ली जा रही है।उन्होंने कहा कि किसी आरोपी के प्रत्यर्पण की कानूनी प्रक्रिया अपना समय लेती है और सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के जांच अधिकारी इस मामले पर पूरी तरह से ध्यान दे रहे हैं। ईडी अधिकारियों ने सोमवार को कहा था कि धन शोधन के एक मामले में प्रत्यर्पण के एजेंसी के आग्रह पर लंदन की एक अदालत ने दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाला मामले में मुख्य आरोपी नीरव के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

जांच एजेंसी को हाल में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत द्वारा वारंट जारी करने की जानकारी मिली थी और नीरव को स्थानीय पुलिस द्वारा जल्द ही औपचारिक रूप से गिरफ्तार किया जा सकता है। सीबीआई और ईडी पीएनबी घोटाले के संबंध में नीरव, उसके मामा मेहुल चोकसी तथा अन्य के खिलाफ जांच कर रही है।

इससे पहले नीरव मोदी खिलाफ लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी कर चुका है। अधिकारियों ने बताया था कि मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नीरव के प्रत्यर्पण का अनुरोध किया था, जिस पर कोर्ट ने यह फैसला सुनाया। इस बारे में जांच एजेंसियों को सूचित कर दिया गया है और जल्द ही उसकी औपचारिक गिरफ्तारी हो सकती है। इसके बाद मोदी को कोर्ट में पेश किया जाएगा जहां वह अपनी जमानत और प्रत्यर्पण के लिए कानूनी मदद ले सकेगा।

हाल ही में हीरा कारोबारी को बदले हुए हुलिये के साथ लंदन में देखा गया था। सीबीआई ने इंटरपोल और यूके  प्रशासन से भगोड़े कारोबारी के खिलाफ जारी रेड कॉर्नर नोटिस पर कार्रवाई कर तुरंत गिरफ्तारी की मांग की थी। एजेंसियां लंबे समय से नीरव मोदी का ब्रिटेन से प्रत्यर्पण कराने की कोशिश में जुटी हैं। ब्रिटेन से पिछले साल जुलाई-अगस्त में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की आधिकारिक मांग की गई थी।

SOURCE : AMAR UJALA

Facebook Comments