#HappyBirthdaySachin : सचिन तेंदुलकर के 46वें जन्मदिन पर जानें उनकी जिंदगी की कुछ अनजानी बातें

नई दिल्ली : क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का आज 46वां बर्थ डे है। क्रिकेट के लगभग हर बड़े से बड़े रिकॉर्ड को अपने नाम करने वाले साढ़े पांच फीट के सचिन तेंदुलकर ने 22 गज की पट्टी पर लगभग ढाई दशक तक समय बिताया है।

मुंबई में जन्मे इस खिलाड़ी का नाम क्रिकेट की किताब में अमिट रहेगा। भारत रत्न से सम्मानित सचिन रमेश तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल, 1973 में हुआ था। यही नहीं, सचिन राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं। इसके अलावा सचिन तेंदुलकर को इंडियन एयर फोर्स के ग्रुप कैप्टन के सम्मान से नवाजा गया है।

सचिन तेंदुलकर के कुछ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स पर नज़र डालें तो वे इस प्रकार हैं

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा अर्धशतक

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा 90+ रन

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा मैच

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा प्लेयर ऑफ द मैच अवार्ड

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा प्लेयर ऑफ द सीरीज अवार्ड

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा चौके

अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक

टेस्ट क्रिकेट में 50 से ज्यादा शतकों का रिकॉर्ड

सचिन तेंदुलकर के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू की बात करें तो उन्होंने साल 1989 में किया था। पाकिस्तान के खिलाफ कराची में किया था। इस मैच में उन्होंने 15 रन की पारी खेली थी। लेकिन, यही वो दिन था जब क्रिकेट की किताब में एक अध्याय ऐसा जुड़ा, जिसका कभी अंत नहीं हो सका। सचिन तेंदुलकर ने अपना आखिरी टेस्ट वेस्टइंडीज के खिलाफ साल 2013 में खेला था। इस मैच में उन्होंने अर्धशतकीय पारी खेली।

सचिन तेंदुलकर के वनडे करियर की शुरुआत साल 1989 में ही पाकिस्तान के खिलाफ हुई थी। इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने बिना खाता खोले आउट हुए थे। वहीं, सचिन तेंदुलकर ने आखिरी वनडे मैच पाकिस्तान के खिलाफ साल 2012 में खेला था। इस मैच में सचिन के बल्ले से 52 रन की पारी निकली थी। ये उनके वनडे करियर का आखिरी और 96वां अर्धशकत निकला था।

सचिन तेंदुलकर ने केवल एक टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला है, जिसमें उन्होंने दस रन बनाए थे। यह मैच उन्होंने साउथ अफ्रीका के खिलाफ साल 2006 में खेला था। क्रिकेट के लिए अपने जीवन के कई साल देने वाले सचिन के लिए लोगों के जहन में आज भी सचिन…सचिन…सचिन की गूंज जिंदा है।

Facebook Comments