PAK ने UN को लिखा ख़त, कहा – Rahul Gandhi ने भी माना कश्मीर में मर रहे हैं लोग, देखिये

Article 370: जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान (Pakistan) लगातार अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत (India) को घेरने की कोशिश कर रहा है. हालांकि UNSC से लेकर G7 तक सभी बड़े मंचों पर इसे भारत का आंतरिक मामला बताकर खारिज कर दिया गया है. अब पाकिस्तान ने यूनाइटेड नेशंस (United Nations) को एक ख़त लिखा है जिसमें भारत पर कश्मीर (Kashmir) में हिंसा और मानवाधिकार उल्लंघन जैसे आरोप लगाए गए हैं. गौर करने वाली बात ये है कि पाकिस्तान ने इस ख़त में इन दावों के सोर्स के रूप में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का नाम भी लिखा है.

Also Read: सुप्रीम कोर्ट ने संविधान पीठ को सौंपा अनुच्छेद 370 का मामला, अक्टूबर में होगी सुनवाई, देखिये


राहुल के जरिए भारत को बनाया जा रहा निशाना

इस ख़त में पाकिस्तान ने आरोप लगाया है कि कश्मीर में हालात सामान्य होने के भारत के दावे झूठे हैं. इन दावों के समर्थन में पाकिस्तान ने राहुल गांधी के एक बयान का उल्लेख किया है. ख़त में लिखा है कि भारतीय नेता राहुल ने भी माना है कि ‘कश्मीर में लोग मर रहे हैं’ और वहां हालात सामान्य नहीं हैं.

Article 370: PAK wrote to UN, saying - Rahul Gandhi also admitted that people are dying in Kashmir

इस ख़त में जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम और PDP चीफ महबूबा मुफ़्ती समेत नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला का नाम भी शामिल है. महबूबा के हवाले से लिखा गया है कि इन नेताओं ने आर्टिकल 370 हटाने को कश्मीर के लिए ‘काला दिन’ करार दिया है. इसमें आरोप लगाया गया है कि इन दोनों नेताओं समेत करीब 2300 और लोगों को भी कश्मीर में नज़रबंद किया गया है.

Article 370: PAK wrote to UN, saying - Rahul Gandhi also admitted that people are dying in Kashmir

बता दें कि 10 अगस्त को कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की मीटिंग से बाहर आते हुए मीडिया से बातचीत में राहुल ने एक ऐसा बयान दिया था. राहुल ने कहा था- अभी तक जितनी भी जानकारी मिल सकी है उसके मुताबिक वहां (कश्मीर) गलत हो रहा है और लोग मारे जा रहे हैं.


Also Read : होटल में चल रहा था सेक्स रैकेट, पुलिस ने डाली रेड लड़की बोली- अंकल जाने दो शादी होने वाली है, देखिये

G7 से भी पाक को लगा झटका

गौरतलब है कि कश्मीर मुद्दे पर वैश्विक मंच पर लगातार पाकिस्तान को झटका लग रहा है. G7 में तो भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट कर दिया कि पाकिस्तान के साथ उनके सभी मुद्दे द्विपक्षीय हैं और किसी तीसरे देश को इसमें हस्तक्षेप करने की ज़रूरत नहीं है. बता दें कि प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के अमेरिका दौरे के बाद से पाकिस्तान यह प्रचारित कर रहा था कि कश्मीर मामले पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मध्यस्थता की पेशकश की है. लेकिन भारतीय पीएम और ट्रंप के बीच हुई इस वार्ता से पाकिस्तान की सारी उम्मीदों पर पानी फिर गया है.


ऐसा पहली बार नहीं है जबकि पाकिस्तान को कश्मीर मामले पर वैश्विक तौर पर झटका लगा हो. इससे पहले जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के भारत सरकार के फैसले से बौखलाए पाकिस्तान ने दुनिया के बड़े देशों से इस मामले पर मध्यस्थता की पेशकश की थी. लेकिन चीन के अलावा दुनियाभर के सभी देशों ने इसे भारत और पाकिस्तान का आपसी मसला बताते हुए मध्यस्थता से इनकार कर दिया था. ऐसे में G7 समिट के मंच पर पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच हुई बातचीत पाकिस्तान के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments