अमित शाह ने ममता बनर्जी को दी चुनौती और कहा – जो हो सकता है उखाड़ लो

राम के नाम पर पश्चिम बंगाल की राजनीति गरमा गई है। पहले ममता बनर्जी और पीएम मोदी के बीच इसे लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला। अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी इसमें कूद गए हैं। मंगलवार को पश्चिम बंगाल के (बिष्णुपुर) में एक रैली के दौरान अमित शाह ने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि वह राज्य में लोगों को ‘‘जय श्रीराम’’ का उद्घोष नहीं करने दे रही हैं।


Also read : चुनाव में मोदी सरकार को लगेगा बड़ा झटका, बढ़ती बेरोजगारी से लोग परेशान

उन्होंने कहा ‘यदि ममता बनर्जी में हिम्मत है तो वह उन्हें ‘‘जय श्रीराम’’ बोलने के लिए गिरफ्तार करके दिखाएं, शाह ने कहा कि जो बन पड़ता है उखाड़ लो।’ शाह ने कहा, ‘‘भगवान राम भारत की संस्कृति का हिस्सा हैं… क्या कोई उनका नाम लेने से किसी को रोक सकता है? मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि अगर श्रीराम का नाम भारत में नहीं लिया जायेगा तो क्या यह पाकिस्तान में लिया जायेगा।’’


Also Read : यूपी में बीजेपी का सफाया, सपा और बसपा खुश, इंडिया टुडे ने किया सर्वे

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘मैं ममता दीदी को बताना चाहता हूं कि यह पश्चिम बंगाल है, पाकिस्तान नहीं…मैं यहां (बिष्णुपुर) से कोलकाता जा रहा हूं, यदि आपमें हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करके दिखाओ।’’ उन्होंने पश्चिम बंगाल के घाटाल, केशियारी और बिष्णुपुर में रैलियां कीं। शाह ने कहा कि कुछ दिन पहले ममता बनर्जी ने लोगों को यह बताने के लिए अपनी गाड़ी रोकी थी कि यदि वे भगवान राम का नाम लेंगे तो उन्हें जेल में डाल दिया जाएगा।


सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें यह नजर आता है कि बनर्जी शनिवार को पश्चिमी मिदनापुर जिले में एक जगह पर अपनी कार रोकती हैं और वहां ‘‘जय श्रीराम’’ का उद्घोष कर रहे कुछ लोगों को खदेड़ती हैं। मुख्यमंत्री का काफिला उसी इलाके से होकर गुजर रहा था।

Also Read: राहुल गाँधी ने खोला राज़ ? कांग्रेस की क्या है यूपी में रणनीति ?

भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि उन्हें पता चला है कि मुख्यमंत्री ने राज्य के पुरुलिया और बांकुरा में गुरुवार को होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो रैलियों की अनुमति रद्द कर दी है। उन्होंने मुख्यमंत्री से पूछा, ‘‘क्या आप (बनर्जी) इस तरह अपनी हार को रोक सकती हैं।’’


शाह ने दावा किया, ‘‘नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने पांच साल के कार्यकाल में पश्चिम बंगाल को 4,24,800 करोड़ रुपये दिये लेकिन यह राशि जनता तक पहुंचने के बजाय सिंडिकेट को पहुंच गयी।’’ उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली संप्रग-2 सरकार में राज्य को सिर्फ 1,32,000 करोड़ रुपये आवंटित किये गए थे।

Source : Jansatta

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments