जावेद अख्तर का पलटवार, बुर्के के साथ राजस्थान में घूंघट पर भी लगना चाहिए बैन, पढ़ें पूरा बयान

जावेद अख्तर ने कहा, अगर बुर्क़े पर बैन लगता है तो सरकार राजस्थान में घूंघट पर भी प्रतिबंध लगाए

नई दिल्ली : लेखक, शायर और गीतकार जावेद अख़्तर गुरुवार को भोपाल पहुंचे. कांग्रेस शासित मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में आयोजित प्रेस वार्ता में जावेद अख्‍तर ने कहा, “मैं राहुल गांधी को प्रधानमंत्री के रूप में नहीं देखता. माना जा रहा है कि जावेद अख्‍तर के इस बयान से कांग्रेस के राहुल गांधी को पीएम पद के रूप में प्रोजेक्‍ट करने के प्रयासों को बड़ा धक्‍का लगा है.

Also Read : शिवसेना ने की भारत में बुर्के पर बैन लगाने की मांग, साध्वी प्रज्ञा ने किया समर्थन, जानें क्या है मामला

प्रेस कांफ्रेंस में जावेद अख्‍तर ने साध्‍वी प्रज्ञा पर भी कटाक्ष किया. उन्‍होंने कहा- “जब उनके श्राप से एक देशभक्त ऑफिसर शहीद हो सकता है तो ऐसे श्राप को नेशनल वाइस के रूप में इस्तेमाल करना चाहिए. मैं मोदी जी को यह सुझाव दूंगा कि इनके श्राप को हाफिज सईद और दूसरे आतंकियों पर इस्तेमाल किया जाए.

Also Read : मोदी के खिलाफ भरे गये 119 पर्चे, 89 हुए खारिज, अब ये 30 उम्मीदवार करेंगे मुकाबला, देखें सूची

श्रीलंका में आतंकी हमले के बाद वहां की सरकार द्वारा बुर्के पर प्रतिबंध लगाने के बाद भारत में भी इस तरह की उठ रही मांग पर जावेद अख्‍तर बोले- सरकार बुर्के के साथ राजस्थान में घूंघट पर भी बैन लगाए, तब जाकर इसका उद्देश्‍य पूरा होगा.

इससे पहले पिछले दिनों बिहार के बछवाड़ा के लोहिया मैदान में बॉलीवुड के प्रख्यात गीतकार जावेद अख्तर ने कहा था- वैसे लोग जो आजादी की लड़ाई में अंग्रेजों के साथ थे, आज वही लोगों को देशप्रेम का पाठ पढ़ा रहे हैं. वे वैसे लोगों को वंदे मातरम बोलने के लिए कह रहे हैं, जिन्होंने आजादी के पूर्व से ही वंदे मातरम कहा है.

देश को धर्म, कर्म और जाति के आधार पर टुकड़ों में बांटने वाले लोग आज दूसरों पर टुकड़े-टुकड़े का आरोप मढ़ रहे हैं. जिनके पास आजादी का एक भी हीरो नहीं, वे राष्ट्रवाद की बात कर रहे हैं. उनका इशारा बीजेपी और उसके नेताओं की तरफ था. 

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments