राकेश टिकैत, किसान आंदोलन और 2022 का UP विधानसभा चुनाव; क्या है आगे की राह ?

भारत के किसान शुरू से ही मौजूदा सरकार द्वारा पारित किये गए कृषि कानून के खिलाफ रहे है, लेकिन उससे ज़्यादा चौंकाने वाली बात ये है कि भाजपा के हिमायती रहे राकेश टिकैत अब मोदी सरकार के सामने आकर खड़े हो गए और जब पुलिस गाजीपुर बॉर्डर पर इन्हें हटाने आयी तो इनके आंसुओ ने पूरे भारत मे एक क्रांति सी ला दी थी, जबकि एक वक्त ऐसा लग रहा था की किसान सरकार के तीनों कानून को मान लेंगे लेकिन हुआ कुछ और ही।

जैसे ही राकेश टिकैत भावुक हुए वैसे ही किसानों के दिल मे उनके लिए रहम पैदा हुआ और दोबारा किसान आंदोलन और मजबूती के साथ खड़ा हुआ। यूं तो राकेश टिकैत मुस्लिम विरोधी हुआ करते थे लेकिन मोदी सरकार के इस कानून के बाद से उनके दिलों में मुसलमानों के प्रति प्रेम जागा और मुजफ्फरनगर महापंचायत में उन्होंने हर हर महादेव के साथ साथ अल्लाहु अकबर के नारे भी लगवाए।

Rakesh Tikait says Yogi Adityanath government is on our target now | राकेश  टिकैत का बड़ा बयान, कहा- अब हमारे निशाने पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार है -  India TV Hindi News

राकेश टिकैत ने पश्चिमी बंगाल में ममता बनर्जी का खुलकर समर्थन किया फलस्वरूप मोदी जी और केंद्रीय मंत्रियों, मुख्यमंत्रियो की बड़ी बड़ी रैलियों के बाद भी बंगाल में ममता बनर्जी के नेतृत्व में TMC सरकार बन गयी और आगे जो UP में होने वाला है वो बीजेपी के लिए बहुत बड़ी अग्निपरीक्षा है। क्योंकि 2017 में बीजेपी सबसे कम वोट प्रतिशत से UP में जीती थी , अगर राकेश टिकैत के नेतृत्व में पूरे किसान आ जाते है तो बीजेपी का पलड़ा काफी कमजोर हो जाएगा और योगी जी का दोबारा मुख्यमंत्री बनने का सपना अधूरा रह जायेगा। क्या आप मेरे विचारों से सहमत हैं ?

(लेखिका नरगिस बानो सोशल एक्टिविस्ट हैं (Nargis Bano Activist)। वह सामाजिक, राजनितिक, लैंगिक न्याय तथा महिला अधिकारों जैसे विषयों पर बेबाकी से लिखती हैं)

The Ace EXPRESS से जुड़ने और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे
दि ऐस एक्सप्रेस Telegram पर भी उपलब्ध है। जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें@TheAceExpress

Facebook Comments