सुप्रीम कोर्ट ने संविधान पीठ को सौंपा अनुच्छेद 370 का मामला, अक्टूबर में होगी सुनवाई, देखिये

नई दिल्ली : जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने वाले संविधान संशोधन पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सभी याचिकाओं पर नोटिस जारी करते हुए पांच जजों की संविधान पीठ का गठन किया. पांच जजों की यह संविधान पीठ अक्टूबर के पहले हफ्ते में सुनवाई करेगी. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में आज इसी मसले से जुड़ी 10 से ज़्यादा याचिकाओं पर एक साथ सुनवाई कर रहा है. इनमें अनुच्छेद 370 को बेअसर करने वाले संविधान संशोधन को गलत बताया गया है|


Also Read : होटल में चल रहा था सेक्स रैकेट, पुलिस ने डाली रेड लड़की बोली- अंकल जाने दो शादी होने वाली है, देखिये

याचिकाकर्ता को कश्मीर के अनंतनाग में जाने की इजाजत

सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने याचिकाकर्ता को कश्मीर के अनंतनाग जाने की इजाजत दे दी. कोर्ट ने इसके साथ ही याचिकाकर्ता को हिदायत भी दी कि आप इसके अलावा कोई और गतिविधि ना करें. सुनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील संजय हेगड़ ने एक याचिका कर्ता की ओर से कहा कि मैं परिवार से संपर्क नहीं कर पा रहा हूं. इस पर चीफ जस्टिस ने सवाल किया कि क्या आप वहां जाना चाहेंगे?

इसके जवाब में हेगड़ ने कहा कि अगर अगर सुरक्षित तरीके से हो सके तो. इसके बाद CJI ने कहा कि हम आदेश देते हैं कि याचिकाकर्ता अनंतनाग जाए. अगर सुरक्षा ज़रूरी है तो सरकार इसे देखे. सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान सरकार को राहत देने वाली टिप्पणी भी. चीफ जस्टिस ने कहा कि वहां हालात सामान्य बनाने की कोशिशें हो रही हैं. सबको ये समझना चाहिए|


Also Read : पीएम मोदी से मिलीं ‘गोल्डन गर्ल’ पीवी सिंधु, गोल्ड जीतने पर दीं बधाई

कोर्ट का आदेश

लेफ्ट नेता सीताराम येचुरी की याचिका पर उनके वकील ने कोर्ट से कहा मैं अपनी पार्टी के पूर्व विधायक से नहीं मिल पाया. मुझे एयरपोर्ट से लौटा दिया गया. इस पर कोर्ट ने उन्हें भी राहत देते हुए कहा कि आप सिर्फ अपने दोस्त से मिलने के लिए जाइए. उनका हाल-चाल लीजिए, वापस आ जाइए और कोई गतिविधि न करें|

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments