मौलाना अरशद मदनी ने संघ प्रमुख मोहन भागवत से करी खास मुलाक़ात, जानिए क्या हुई बातचीत ?

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( RSS) प्रमुख मोहन भागवत और जमीयत उलेमा ऐ हिन्द के प्रमुख मौलाना अरशद मदनी के बीच मुलाक़ात हुई जिसमें देश के मौजूदा राजनीतिक हालात पर विचार-विमर्श किया गया। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में आरएसएस के मुख्यालय झंडेवालान में “केशव कुंज” में हुई यह बैठक करीब डेढ़ घंटे तक चली।


Also Read : चोरीछुपे प्रेमिका से मिलना प्रेमी को पड़ा भारी, गांववालों ने पकड़कर करा दी शादी, देखिये

मौलाना मदनी ने “राष्ट्रीय जनमंच” की पहल पर आरएसएस मुख्यालय का दौरा किया। सूत्रों ने बताया कि यह एक अभूतपूर्व बैठक थी जो सामाजिक एकता में मदद करेगी। एक अन्य सूत्र ने बताया, बैठक हिंदू-मुस्लिम एकता के दृष्टिकोण से ऐतिहासिक थी।


दोनों पक्ष विचार-विमर्श से संतुष्ट थे। भाजपा के महासचिव (संगठन) राम लाल, जो आरएसएस के साथ वापस आ गए हैं, को मीटिंग के मुद्दों पर विचार विमर्श जारी रखने के लिए कहा गया है।सरकार द्वारा हाल ही में तीन तलाक कानून और जम्मू और कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में अनुच्छेद 370 को खत्म करने और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के दो हिस्सों में विभाजन के फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव के बीच यह बैठक हुई।

Also Read : सिंधिया ने भाजपा में जाने की बात पर पहली बार तोड़ी चुप्पी, सुनकर हैरान रह गये लोग

मदनी ने जिन्होंने हाल ही में अपने मुख्यालय में जमीअत की कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता की थी, ने मांग की थी कि सरकार भीड़ हिंसा के मुद्दे से निपटने के लिए एक विशेष कानून बनाए। मदनी ने बिगड़ते सांप्रदायिक माहौल के बारे में अपनी गहरी चिंता व्यक्त की थी, विशेष रूप से मोदी सरकार के पुन: चुनाव के बाद देश में भीड़ हिंसा की घटनाओं पर चिंता व्यक्त की।

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments