Article 370 पर पीएम नरेंद्र मोदी का समर्थन कर मायावती ने फिर चौंकाया, देखिये

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाए जाने संबंधित बिल राज्यसभा में पेश होने पर बसपा ने मोदी सरकार का समर्थन कर एक बार फिर सबको चौंकाया है. राज्यसभा में पार्टी के महासचिव सतीशचंद्र मिश्रा ने कहा कि उनकी पार्टी आर्टिकल 370 से जुड़े बिल का समर्थन करती है.

Also Read : धारा 370 के हटने पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी बोले यह बड़ी बात, देखिये


दरअसल राज्यसभा में जहां पूरा विपक्ष सरकार के इस फैसले के खिलाफ नजर आ रहा था, वहीं बसपा का बिल को समर्थन करना चकित करने वाला था. कांग्रेस और पीडीपी बिल के पेश होते ही धरने पर बैठ गए. लेकिन बसपा ने इस बिल का समर्थन किया.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के बाद से ही बसपा मोदी सरकार पर हमलावर है. ऐसे में लग रहा था कि पार्टी एक बार फिर जम्मू और कश्मीर के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ होगी. लेकिन सबको चौंकाते हुए उसने बिल का समर्थन कर दिया. बसपा के सर्थन से अब इस बिल का राज्य सभा में पास होना तय है.


राष्ट्र के मुद्दे पर वह एनडीए के साथ खड़ी नजर आई. वहीं दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी का रुख अन्य विपक्षी दलों के साथ रहा. सपा के रामगोपाल यादव ने भी इस बिल के खिलाफ कांग्रेस के साथ दिखे. यहां भी बसपा ने सपा से बढ़त बना ली.

क्या कहा सतीश चंद्र मिश्रा ने?

जम्मू कश्मीर से सम्बंधित आर्टिकल 370 व अन्य बिल को समर्थन देते हुए मिश्रा ने कहा, “हमारी पार्टी पूरा समर्थन देती है. हम चाहते हैं कि बिल पास हो जाए. हमारी पार्टी आर्टिकल 370 और अन्य बिल के खिलाफ नहीं है.

Also Read : धारा370 पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अमित शाह ने पेश किया बिल,दो हिस्सो में बटेगा कश्मीर,देखिए


अमित शाह ने कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल में किया बड़ा बदलाव इससे पहले सोमवार को राज्यसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर को लेकर सरकार का संकल्प पत्र पेश किया. शाह ने कहा कि कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 में बड़ा बदलाव किया है. अब सिर्फ आर्टिकल 370 का खंड A लागू रहेगा. बाकी खंड तुरंत प्रभाव से खत्म कर दिए गए हैं.

गृहमंत्री ने इसके साथ ही आर्टिकल 35A भी हटाए जाने का ऐलान किया. शाह ने कश्मीर के पुनर्गठन प्रस्ताव भी पेश किया है. अब जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश होगा, जबकि लद्दाख को भी अलग कर केंद्रीय शासित प्रदेश बनाया गया है.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments