Budget 2019: जानिए बजट में दिल्ली-एनसीआर को क्या-क्या मिली सौगातें

Budget 2019: केंद्र सरकार के बजट मे दिल्ली के लिए कोई नई योजना नहीं है. इसके साथ-साथ केंद्रीय करों मे दिल्ली की हिस्सेदारी भी नहीं बढ़ाई गयी है पर कुछ जरुरी प्रकल्प के लिए प्रयाप्त बजट का विनिधान कर के उन्हें तेजी देने का प्रयास किया गया है.

दूसरी तरफ दिल्ली-एनसीआर परिवहन परियोजनाओं और स्वास्थय पर ख़ास जोर दिया जा रहा है. बजट 2019 मे एक घोषणा की गई है जिस की वजह से रियल एस्टेट इंडस्ट्री की गति मे वृद्धि की उम्मीद की जा रही है, अब 45 लाख तक के घर खरीदने पर, इंटरेस्ट पर 3.5 लाख तक की छूट मिलेगी।

Also Read : Rail Budget 2019: देश में अब प्राइवेट ट्रेन भी चलेगी, रेलवे स्टेशन एयरपोर्ट की तर्ज पर होंगे विकसित


दिल्ली-मेरठ और दिल्ली-अलवर रैपिड रेल कॉरिडोर के लिए करीब 974 करोड़ का बजट विनिधान कर इस प्रकल्प को तेज़ी दी गई है। चंद्रावल जलशोधन संयंत्र फेज-2 के लिए 300 करोड़ की राशि विनिधान की गई है। इस प्लांट की बुनियाद हाल ही में रखी गई थी अब इसके निर्माण का कार्य शुरू होने को है |

दिल्ली के चार विख्यात अस्पतालों के लिए 6,161.15 करोड़ रुपये का प्रबंध किया गया है। इन अस्पतालों में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), सफदरजंग, राम मनोहर लोहिया अस्पताल तथा लेडी हार्डिग मेडिकल कॉलेज के सुचेता कृपलानी व कलावती शरण अस्पताल
शामिल हैं। साथ ही संभवत: आरएमएल और सफदरजंग में सांध्यकालीन ओपीडी भी अब जल्द शुरू हो सकती है |

मेट्रो फेज चार की परियोजनाओं को मिलेगी रफ्तार

दिल्ली मेट्रो के विस्तार के लिए बजट में 414.70 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इसकी वजह से लंबे समय से बीच मे लटकी फेज-4 की परियोजनाओं को गति मिलेगी। दिल्ली में फेज-4 में छह मेट्रो कॉरिडोर बनेंगे जिसकी लम्बाई कुल मिलाकर 103.93 किलोमीटर होगी। इस बार के बजट में देश की मेट्रो परियोजनाओं के लिए 17 हजार 715 करोड़ 93 लाख रुपये विनिधान किए गए हैं। इनमें से 414.70 करोड़ रुपये दिल्ली मेट्रो फेज-4 की प्रकल्प के लिए निर्धारित हैं। दिल्ली सरकार ने मौजूदा वित्त वर्ष 2019 में दिल्ली मेट्रो के लिए करीब 500 करोड़ रूपयो के बजट
का प्रबंध किया था। इस तरह मौजूदा वित्त वर्ष में मेट्रो परियोजनाओं के लिए कुल मिलाकर 914 करोड़ 70 लाख की राशि का प्रबंध हो चुका है।


7892.86 करोड़ से मजबूत होगी दिल्ली की सुरक्षा

दिल्ली पुलिस के लिए आम बजट में 7892 करोड़ 86 लाख रुपये तक का प्रबन्ध किया गया है। यह राशि पिछले साल के मुकाबले में 465.88 करोड़ रुपये से अधिक है। बजट 2019 की बदौलत दिल्ली की सुरक्षा के लिए प्रशासनिक ढांचे को मजबूत किया जाएगा और पुलिस को आधुनिक तकनीक और सुविधाओं से सुसज्जित किया जायेगा।

Also Read : कांग्रेस ने बजट को बताया फीका, चिदंबरम बोले- किसी वर्ग को भी राहत नहीं

बजट को तीन भागों में बांटा गया है। इन भागो के नाम है, प्रशासनिक कार्य, दिल्ली पुलिस की योजनाएं और महिला सुरक्षा निर्भया फंड, यह सबसे प्रमुख भाग हैं। बजट की राशि में बढ़ोतरी के बावजूद कुछ योजनाओं और निर्भया फंड के बजट में कुछ कमी की गई है। गत वर्ष यातायात व्यवस्था में सुधार के लिए इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आइटीएमएस) को लागू कराने के लिए दी गई राशि और निर्भया फंड का पूरा बजट खर्च नहीं हो पाया था। इस बार बजट मे प्रमुख
दवाब अधिकारियों-कर्मियों का वेतन, कार्यालय खर्च, वाहन, वर्दी, विज्ञापन, प्रचार, स्वास्थ्य, किराया और हथियार की खरीद पर दिया गया है। बजट कई उपकरणों और यातायात सिग्नल की खरीद के साथ ही आवासीय भवनों और कार्यालय के निर्माण पर खर्च होगा।

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments