जब कल्याण सिंह वेस्ट यूपी में मांग रहे थे वोट, सूचना मिलते ही मंच से उतरकर चुपचाप हुए लखनऊ रवाना

सियासत के रंग भी निराले होते हैं. सियासत दा कभी अर्श पर कभी फर्श पर होते हैं. चुनाव में तो तरह तरह के घटनाक्रम और रोचक किस्से बनते ही रहते हैं. जो एक मिसाल भी कायम कर देते हैं ऐसा ही एक किस्सा आपको बताते हैं. जो 1998 में मिसाल बन गया था.

तब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह थे. वह अपने उम्मीदवार के पक्ष में अमरोहा जिले के रहरा में जनसभा कर रहे थे. वह जनता से विकास और दूसरी बातें सरकार के मुखिया के तौर पर कर रहे थे और जनता जनार्दन मुख्यमंत्री जिंदाबाद जिंदाबाद के नारे लगा रही थी.

लेकिन उसी दौरान उनके पास सूचना आई कि उनकी सरकार गिर गई है. कल्याण सिंह आनन फानन में सभा समाप्त की और मंच से उतर आए. तब उन्हें पता लगा अब उत्तर प्रदेश के सीएम कांग्रेस के जगदंबिका पाल बनेगें.

दरअसल अमरोहा की गंगेश्वरी विधानसभा सीट रिजर्व थी. वह संभल लोकसभा क्षेत्र में आती थी कल्याण सिंह गंगेश्वरी के रहरा इलाके में एक जनसभा कर रहे थे. गंगेश्वरी के जानकारों को याद है कि कल्याण सिंह मुलायम सिंह के घर संभल में कमल खिलाने के लिए वोट मांग रहे थे. लेकिन सरकार गिरने की सूचना पर तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह सभा छोड़कर लखनऊ चले गए. हालांकि अगले 2 दिन के राजनीतिक घटनाक्रम के बाद उनकी सरकार बच गई थी.

Facebook Comments