अमरिंदर कैबिनेट से Navjot Singh Sidhu हुए आउट, 6 दिन बाद हुआ इस्तीफा मंजूर

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने Navjot Singh Sidhu का इस्तीफा मंजूर कर लिया है. उन्होंने इसे पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनोर को भेज दिया है. Navjot Singh Sidhu ने अटकलों पर विराम लगाते हुए 15 जुलाई को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को अपना इस्तीफा भेज दिया था.

Also Read : प्रियंका गांधी का पीड़ित परिवार से मिलने का मकसद हुआ पूरा, मृतक परिवार को 10 लाख देगी Congress


वीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्रालय से दिया इस्तीफा !

अमरिंदर सिंह और उनके कैबिनेट साथी नवजोत सिंह सिद्धू के बीच विवाद 14 जुलाई को उस समय और गहरा गया जब सिद्धू ने बिजली और नए और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्रालय से इस्तीफा दे दिया. क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू ने अपने इस्तीफे में लिखा, “मैं पंजाब मंत्रिमंडल के मंत्री पद से इस्तीफा देता हूं.

ट्विटर पर अपना इस्तीफा पोस्ट करते हुए सिद्धू ने ट्वीट किया, “मेरा इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी के पास 10 जून 2019 को पहुंच गया था.” मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल द्वारा यह बताने के बाद कि मुख्यमंत्री कार्यालय को सिद्धू का इस्तीफा नहीं मिला है, सिद्धू ने ट्वीट किया, “पंजाब के मुख्यमंत्री को अपना इस्तीफा भेजूंगा.” छह जून को मंत्रिमंडल के पुनर्गठन में नवजोत सिंह सिद्धू से स्थानीय सरकार, पर्यटन और सांस्कृतिक मामलों का विभाग लेकर उन्हें बिजली और नए और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्रालय दे दिया था.


पार्टी की हार के लिए सिद्धू पर आरोप लगाया !

नवजोत सिंह सिद्धू ने हालांकि अपने नए मंत्रालय प्रभार को संभालने से इंकार कर दिया था. दस जून को नई दिल्ली में उन्हें कांग्रेस नेताओं-राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, अहमद पटेल से मुलाकात कर उन्हें बताया था कि लोकसभा में पार्टी की हार के लिए उन पर सार्वजनिक रूप से आरोप लगाया गया. उसके बाद से वह एकांतवास में चले गए थे.

Also Read: दिल्ली की पूर्व CM और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित का निधन

उनकी अनुपस्थिति में अमरिंदर सिंह ने 10 जून को बिजली की कमी से संबंधित कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए क्योंकि राज्य में इससे धान की फसल की बुवाई प्रभावित हो रही थी.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments