बिहार में बाढ़ से स्थिति भयावह, 25 लाख लोग प्रभावित, देखिये तस्वीरें

बिहार के 12 जिलों में बाढ़ की स्थिति बहुत भयानक हो चुकी है। नेपाल के तराई इलाके और उत्तर बिहार में बारिश की वज़ह से राज्य के बहुत सारे जिलों में बाढ़ का संकट और गहरा गया है। कुछ सरकारी आंकड़ों से पता चला है की राज्य के 12 जिलों के 78 प्रखंडों के 555 पंचायतों में बाढ़ से हालात बहुत भयानक हो चुके हैं, जिसकी वज़ह से करीब 25 लाख तक की आबादी प्रभावित हुई है।

Also Read : मदरसे से हथियार बरामद होने के बाद पूरी यूपी के मदरसों पर सरकार की पैनी नज़र, यह है आगे का प्लान


इस आपदा के दौरान 25 लोगों की मौत बाढ़ के पानी में डूब कर हो गई है और साथ ही हजारों घर तबाह हो चुके हैं। बिहार जल संसाधन विभाग के मुताबिक, इस क्षेत्र की प्रमुख नदियों के जलस्तर में बढ़ावा देखा गया है, जबकि वीरपुर बैराज में कोसी नदी का जलस्तर में भी बढ़ावा देखा गया है।

वीरपुर बैराज के बाढ़ नियंत्रण कक्ष के मुताबिक सुबह 6 बजे वहाँ कोसी नदी का जलस्तर 1.53 लाख क्यूसेक पाया गया, जो 8 बजे बढ़कर 1.68 लाख क्यूसेक पहुंच गया। वाल्मीकिनगर बैराज में गंडक नदी स्थिर बनी हुई है। यहां 8 बजे गंडक का जलस्तर 92,900 क्यूसेक था।

जल संसाधन विभाग के प्रवक्ता अरविंद सिंह ने आईएएनएस को मंगलवार को बताया कि बागमती नदी ढेंग, सोनाखान, डुबाधार व बेनीबाद और कमला बलान नदी भी झंझारपुर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। साथ ही अधवारा, ललबकईया और महानंदा नदी भी कई स्थानों पर खतरों के निशान को पार कर गई है।


Also Read : जेएनयू का सुरक्षा गार्ड बना जेएनयू का छात्र, पास की बीए पाठ्यक्रम की प्रवेश परीक्षा, देखिये

बाढ़ से प्रभावित राज्यों के नाम है- शिवहर, सीतामढ़ी, पूवीर् चपांरण, मधुबनी, अररिया, किशनगंज, सुपौल, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, सहरसा, कटिहार आर पूर्णिया। कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति बुरी बनी हुई है जबकि कुछ जिलों में बाढ़ आने की संभावना अतयधिक हो गया है।

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने मंगलवार को यह बात बताई की बाढ़ से प्रभावित जिलों मे राहत और बचाव कार्य जारी हैं और उनकी स्थिति पर नजर रखी जा रही है.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments