नवजोत सिद्धू पर चला चुनाव आयोग का डंडा, अब नहीं कर पायेंगे प्रचार

चुनाव आयोग (Election Commission) ने नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के प्रचार करने पर 72 घंटे की रोक लगा दी है. कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को बिहार में एक चुनावी रैली के दौरान की गई कथित सांप्रदायिक टिप्पणी का जिम्मेदार मानते हुए उनके प्रचार करने पर 72 घंटे की रोक लगाई गई है. नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu News) पर यह रोक मंगलवार सुबह 10 बजे से प्रभावी हो जाएगी.

क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू ने 16 अप्रैल को कटिहार की एक चुनाव रैली में यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि मुस्लिम मतदाताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हराने के लिए एकजुट होकर मतदान करना चाहिए. इस रैली में सिद्धू कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर के पक्ष में प्रचार कर रहे थे. सिद्धू ने कटिहार में कहा था, ‘मैं आपको चेतावनी देने आया हूं मुस्लिम भाईयों, ये बांट रहे हैं आपको, ये यहां ओवैसी जैसे लोगों को ला के, एक नई पार्टी खड़ी कर आप लोगों का वोट बांट के जीतना चाहते हैं. अगर तुमलोग इकट्ठे हुए, एकजुट होकर वोट डाला तो मोदी सुलट जाएगा.

‘बता दें कि इससे पहले निर्वाचन आयोग ने नवजोत सिंह सिद्धू को बिहार के कटिहार में एक चुनावी रैली के दौरान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के लिए शनिवार को एक नोटिस जारी किया था. आयोग ने नोटिस में कटिहार से कांग्रेस उम्मीदवार तारिक अनवर के समर्थन में 15 अप्रैल को सिद्धू द्वारा मतदाताओं से की गई अपील के दौरान धर्म का इस्तेमाल किए जाने का जिक्र किया है.

आयोग ने कहा था कि बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने एक वीडियो क्लिप भेजी है, जिसमें सिद्धू अल्पसंख्यक समुदाय के मतदाताओं से कह रहे हैं कि वे वोटों का बंटवारा न होने दें.उन्होंने उनसे यह भी कहा कि वे कांग्रेस को एकजुट होकर वोट दें, ताकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्ता से उखाड़ फेंका जाए. आयोग ने कटिहार जिले के बारसोई पुलिस थाने में सिद्धू के बयान के खिलाफ दाखिल एक प्राथमिकी का भी जिक्र किया है.

Facebook Comments