3 साल में पूरा हो जाएगा हाईवे, 12 घंटे में Delhi से Mumbai पहुंचने का सपना होगा पूरा – Nitin Gadkari!!

आप Delhi से Mumbai मात्र 12 घंटे में पहुंच पाएंगे और यह सपना सच होने में ज्यादा-से-ज्यादा तीन साल लगने वाला है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री Nitin Gadkari ने लोकसभा सदस्यों को यह आश्वासन सदन में दिया। उन्होंने Delhi-Mumbai एक्सप्रेसवे के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि इससे दोनों महानगरों की दूरी 120 किलोमीटर कम हो जाएगी। सड़क परिवहन मंत्री ने लोकसभा में कहा कि इस Green Highway के 60 प्रतिशत कॉन्ट्रैक्ट आवंटित किए जा चुके हैं, इसलिए ढाई से तीन साल के बाद 12 घंटों में Delhi से Mumbai जाना संभव हो जाएगा।

Also Read : कलराज मिश्र हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल नियुक्त, कुछ ऐसा रहा है राजनितिक सफर..


कहां से गुजरेगा Delhi-Mumbai Green Highway ?

गडकरी ने बताया, ‘Delhi-Mumbai मार्ग देशभर में तैयार किए जा रहे ग्रीन एक्सप्रेस हाइवे नेटवर्क का ही एक हिस्सा है। यह गुड़गांव से शुरू होकर सवाई माधोपुर, अलवर, रतलाम, झाबुआ, बड़ोदरा से होकर मुंबई जाएगा।’ उन्होंने बताया कि मंत्रालय ने इस प्रॉजेक्ट पर सिर्फ जमीन अधिग्रहण में 16 हजार करोड़ रुपये की बचत की है। उन्होंने बताया, ‘अगर दिल्ली, अहमदाबाद, बड़ोदरा से मुंबई के मौजूदा हाइवे के किनारे-किनारे ग्रीन एक्सप्रेसवे बनाया जाता तो जमीन अधिग्रहण पर 6 करोड़ रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से खर्च करना पड़ता, इसलिए हमने हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र के पिछड़े इलाकों का रास्ता निकाला, जहां जमीनें सस्ते में मिल गईं। यह पहला ग्रीन हाइवे है जो आदिवासी इलाकों से होकर गुजर रहा है।’

Also Read : इलाहाबाद हाईकोर्ट के बाहर बंदूक की नोक पर युवक-युवती का अपहरण, जांच में जुटी पुलिस

इलेक्ट्रिक ट्रेनों जैसे ही बिजली से चलेंगे ट्रक !

उन्होंने बताया कि इस ग्रीन हाइवे के जरिए माल ढुलाई की लागत भी बहुत घट जाएगी क्योंकि इसपर ट्रेनों जैसा इलेक्ट्रिक सिस्टम से ट्रकों का संचालन किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘भारी उद्योग मंत्री अरविंद सावंत से बात हुई है। उनके सहयोग से 10 किलोमीटर का एक पायलट प्रॉजेक्ट शुरू करने की सोच रहे हैं। इसमें 80 टन के ट्रक को Green Highway पर रेलवे के इलेक्ट्रिक केबल से संचालित करने का विचार है। जिस तरह ट्रेनें अपने ऊपर बिजली के तारों के जरिए ट्रैक पर दौड़ती हैं, उसी तरह ट्रक भी हाइवे पर बिजली से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगे।’ गडकरी ने बताया कि अमेरिका के सैन फ्रैंसिस्को, जर्मनी और स्वीडन आदि के तर्ज पर देश में भी माल ढुलाई का अनोखा रास्ता तैयार होगा।


5 गुना कम हो जाएगी ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट !

उन्होंने कहा, ‘इससे Delhi से Mumbai का ट्रांसपोर्ट कॉस्ट बहुत कम हो जाएगा। आज 85 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल और 65 रुपये प्रति लीटर डीजल है, वह 12 से 15 रुपये की बिजली लगेगी। ट्रक 20 किलोमीटर बिजली से चलेगा और उस दौरान उसकी बैट्री चार्ज होती रहेगी। फिर बैट्री से चलेगा और फिर करंट लेगा।’ उन्होंने कहा कि Delhi-Mumbai ग्रीन हाइवे के बगल में लॉजिस्टिक्स पार्क भी बनाए जा रहे हैं। 


तैयार हो रहा है नए भारत का इन्फ्रास्ट्रक्चर – Gadkari !

Gadkari ने इसे नए भारत का इन्फ्रास्ट्रक्चर की प्रधानमंत्री की सोच के मुताबिक बताया। उन्होंने कहा कि Modi सरकार के पहले कार्यकाल में करीब 40 हजार किलोमीटर सड़क का निर्माण हुआ और वैश्विक स्तर के हाइवे नेटवर्क तैयार करने पर 4 लाख 31 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए गए। यह UPA दो के पांच वर्षों की तुलना में ज्यादा है। गडकरी ने कहा सिर्फ उनके मंत्रालय ने पिछले पांच सालों में GDP में ढाई से तीन प्रतिशत का योगदान दिया है।

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments