कंगना के 2 करोड़ के मुआवजे पर बीएमसी ने कहा, कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग है।

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) द्वारा कंगना रनौत के ऑफिस का  कथित अवैध हिस्सा गिराए जाने को लेकर, कंगना ने  दो करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग करते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट में दायर याचिका की है। कंगना के इस मांग पर बीएमसी ने हलफनामा दायर किया है। शुक्रवार को बीएमसी ने अपने हलफनामे में कहा है कि यह याचिका कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग है।


दुरुपयोग के साथ साथ बीएमसी ने अपने हलफनामे में यह भी कहा है कि कंगना रनौत की इस याचिका को अदालत खारिज कर दे और इस तरह की याचिका दायर करने के चलते उन पर जुर्माना लगाने का अनुरोध किया जाए।

बीएससी ने हलफनामे में लिखा है कि रिट याचिका और उसमें मांगी गई राहत कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग करती है। याचिका पर विचार न किया जाना चाहिए और इसे जुर्माने के साथ खारिज किया जाना चाहिए।

बता दें 9 सितंबर को बीएमसी ने कंगना रनौत के ऑफिस में अवैध निर्माण के चलते उनका ऑफिस पर जेसीबी चलवा दी थी। इस रोकने के लिए कंगना ने उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया और इस रोकने का ऑडर  लिया।  जिस के बाद बीएमसी ने तोड़फोड़ बंद कर दी।


15 सितंबर को कंगना रनौत ने अपनी संशोधित याचिका में बृहन्मुंबई नगर निगम की कार्रवाई को लेकर मुआवजे के रूप में दो करोड़ रुपये की मांग की थी। अगली सुनवाई इस मामले में 22 सितंबर को होने वाली है।

The Ace EXPRESS से जुड़ने और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

दि ऐस एक्सप्रेस Telegram पर भी उपलब्ध है। जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें@TheAceExpress

Facebook Comments