75 प्रतिशत छात्र के JEE और NEET की परीक्षा न दे पाने पर ममता बनर्जी ने निकाला केंद्र पर बोला हमला

केंद्र सरकार के जेईई (JEE) और नीट (NEET) की परीक्षा कराने को लेकर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिले के लिए कराई जा रही जेईई और नीट की परीक्षा में प्रदेश के 75 प्रतिशत छात्र हिस्सा नहीं ले पा रहे हैं। मंगलवार को हुई जेईई की परीक्षा में प्रदेश के केवल  25 प्रतिशत अभ्यर्थी ही हिस्सा ले पाए, इस चीज़ के लिए केवल केंद्र सरकार का अहंकार जिम्मेदार है।


ममता बैनर्जी ने कहा, छात्र बड़ी मुश्किल में है, उनमें से कई जेईई की परीक्षा नहीं दे सके। इसी वजह से हमने केंद्र से शीर्ष न्यायालय में अपील करने की गुजारिश की थी। नहीं तो इस मामले को केंद्र सरकार फिर से समीक्षा करें ताकि इससे वंचित न रह जाए। ममता बनर्जी ने यह भी कहा कि उनकी सरकार ने सुरक्षा के सभी इंतजाम किए थे लेकिन मंगलवार को हुई परीक्षा में केवल 1,167 अभ्यर्थी पहुंचे थे जबकि  कुल 4,652 अभ्यर्थियों को इस परीक्षा में शामिल होना था।

बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा, इसका मतलब है कि पश्चिम बंगाल में सिर्फ 25 प्रतिशत छात्र ही परीक्षा दे पाए जबकि 75 फीसदी इम्तिहान में शामिल हि ना हो सके। हमने केंद्र सरकार के निर्देशों का सख्ती से पालन किया था


तो वहीं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख का कहना है कि, अगर जेईई और नीट की परीक्षा को कुछ और समय के लिए टाल दिया जाता तो क्या ग़लत हो जाता? केंद्र सरकार को इतना अहंकार क्यों है? केंद्र सरकार इतनी जिद्दी क्यों है? छात्रों का भविष्य बर्बाद करने का अधिकार केंद्र सरकार को किसने दिया? 

बता दें, जेईई और नीट की परीक्षा कराने को लेकर मामला सर्वोच्च न्यायालय में गया था, जिस पर सर्वोच्च न्यायालय ने इन परीक्षाओं को कराने की अनुमति दी थी। जिस के बाद देश भर के छात्रों ने परीक्षा कराने को लेकर विरोध किया था। जिस के बाद क‌ई राजनीतिक दलों ने भी इसके विरोध को समर्थन दिया था। प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिख परीक्षा को स्थगित कराने की भी मांग की गई थी। 


बंगाल में 75 प्रतिशत छात्रों के परीक्षा न दे पाने पर ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से पुनः विचार करने की गुजारिश की है।

The Ace EXPRESS से जुड़ने और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

दि ऐस एक्सप्रेस Telegram पर भी उपलब्ध है। जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें@TheAceExpress

Facebook Comments