सेंसेक्स 777 और निफ्टी में 258 अंको की हुए गिरावट, शेयर बाजार के लिए रहा बुरा हफ्ता।

Sensex and Nifty lost points: बीते 5 जुलाई को आम बजट के बाद का पहला सप्‍ताह भारतीय शेयर बाजार के लिए ठीक नहीं रहा. एक हफ्ते में सेंसेक्‍स ने 777 अंक की बढ़त गंवा दी है तो वहीं निफ्टी 258 अंक लुढ़क गया. सप्‍ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को सेंसेक्स 86.88 अंकों (0.22%) की गिरावट के साथ 38,736.23 पर बंद हुआ. वहीं, निफ्टी 30.40 अंकों (0.26%) की कमजोरी के साथ 11,552 के स्‍तर पर रहा.

Also Read : यूपी में क्रिकेट मैच के दौरान झड़प, मदरसे के बच्चों को ‘जय श्री राम’ नहीं कहने पर पीटा


इससे पहले बीते सप्ताह शुक्रवार (5 जुलाई) को सेंसेक्स 394 अंक की गिरावट के साथ 39 हजार 513 के स्तर पर रहा. वहीं निफ्टी 135.60 अंक की कमजोरी के साथ 11 हजार 811 के स्तर पर बंद हुआ. बता दें कि इसी दिन वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला आम बजट 2019-20 लोकसभा में पेश किया था.

इन शेयरों का क्‍या है हाल ?

शुक्रवार को कारोबार के अंत में बजाज फाइनेंस और ONGC के शेयर 2 फीसदी से अधिक गिरावट के साथ बंद हुए. वहीं इंडसइंड बैंक के शेयर में 1.98 फीसदी की फिसलन दर्ज की गई. इसके अलावा पावरग्रिड, एलएंडटी, एक्‍सिस बैंक, एयरटेल और मारुति के शेयर भी लाल निशान पर रहे. अगर बढ़त वाले शेयरों की बात करें तो वेदांता, टाटा स्‍टील, एशियन पेंट और सनफार्मा के अलावा हीरो मोटोकॉर्प के शेयर में 2 फीसदी से अधिक तेजी रही. जबकि यस बैंक, टाटा मोटर्स, इन्‍फोसिस और बजाज ऑटो के शेयर भी हरे निशान पर बंद हुए.

Also Read : सुब्रमण्यम स्वामी ने बीजेपी को बताया लोकतंत्र के लिए खतरा,कहा ममता बनर्जी बने कांग्रेस अध्यक्ष


क्‍यों बाजार में रही इतनी निराशा ?

इस हफ्ते बाजार में निराशा की सबसे बड़ी वजह आम बजट रही. दरअसल, निवेशकों को आम बजट से काफी उम्‍मीदें थीं. केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPIJ) के लिए लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस टैक्स बढ़ा दिया गया है. इससे निवेशकों में निराशा रही. वहीं अमेरिका के जॉब डाटा और ग्‍लोबल मार्केट के उतार-चढ़ाव का भी बाजार पर असर पड़ा.

Ace News से जुड़े और लगातार अपडेटेड रहने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, Twitter पर फॉलो करे

Facebook Comments